Wed. Jul 17th, 2024

ईश्वर(2002) परिचय:

ईश्वर फिल्म



वर्ष 2002 की तेलुगु फिल्म “ईश्वरप्रभास की पहली फिल्म है, जो आगे चलकर भारतीय सिनेमा के सबसे प्रमुख अभिनेताओं में से एक बन गए। जयंत सी. परंजी द्वारा निर्देशित इस फिल्म ने प्रभास के शानदार करियर की नींव रखी। इस लेख में, हम “ईश्वर” के कथानक, आलोचनात्मक स्वागत और प्रभास के करियर में इसके महत्व पर विस्तृत नज़र डालते हैं।

ईश्वर फिल्म निर्देशक,बजट,बॉक्स ऑफिस कलेक्शन:

ईश्वर, 2002 की तेलुगु भाषा की एक्शन ड्रामा फिल्म है, जिसमें अभिनेता प्रभास ने पहली बार काम किया था। आपके द्वारा अनुरोधित विवरण का विवरण यहां दिया गया है:

निर्देशक: जयंत सी. परंजी

कलाकार:

  • ईश्वर के रूप में प्रभास (पहली फिल्म)
  • इंदु (ईश्वर की प्रेमिका) के रूप में श्रीदेवी विजयकुमार
  • ईश्वर के पिता के रूप में शिव कृष्ण
  • ईश्वर की सौतेली माँ के रूप में रेवती
  • धीरज कृष्ण नोरी

बजट: ₹2 Crore

बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: हालांकि विशिष्ट बॉक्स ऑफिस नंबर ढूंढना मुश्किल है, लेकिन समीक्षाओं से पता चलता है कि फिल्म का प्रदर्शन औसत था।

हिट या फ्लॉप: ईश्वर को आम तौर पर औसत कमाई वाली फिल्म माना जाता है और यह एक बड़ी व्यावसायिक सफलता नहीं है।

IMDb रेटिंग: IMDb पर फिल्म की रेटिंग 5.3 है|

कथानक का अवलोकन:

ईश्वर” एक गरीब पृष्ठभूमि से आने वाले युवक ईश्वर की कहानी है, जो अपनी माँ से बहुत जुड़ा हुआ है। फिल्म सामाजिक मानदंडों के खिलाफ़ उसके संघर्ष और न्याय की उसकी खोज को दर्शाती है। कथानक प्रेम, पारिवारिक वफ़ादारी और सामाजिक असमानता के विषयों से बुना गया है, जिसमें ईश्वर धार्मिकता और लचीलेपन के प्रतीक के रूप में उभरता है।

संगीत और साउंडट्रैक:

आर.पी. पटनायक द्वारा रचित “ईश्वर” के संगीत ने फिल्म की अपील में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। गीतों को खूब सराहा गया और उन्होंने कथा की भावनात्मक गहराई में योगदान दिया। “ई वैसिका राडू” और “ईश्वरुदा” जैसे ट्रैक काफी लोकप्रिय हुए, जिससे फिल्म की पहुंच बढ़ गई।

आलोचनात्मक स्वागत:

ईश्वर” को रिलीज़ होने पर मिश्रित समीक्षाएं मिलीं। आलोचकों ने प्रभास के ईमानदार अभिनय की प्रशंसा की, भविष्य के स्टार के रूप में उनकी क्षमता को देखते हुए। फिल्म के निर्देशन, पटकथा और संगीत को भी सराहना मिली। हालांकि, कुछ आलोचकों को लगा कि कहानी कुछ हद तक पूर्वानुमानित थी और मौलिकता के मामले में और अधिक पेश की जा सकती थी।


प्रभास फिल्मोग्राफी और स्टारडम की ओर बढ़ना:

प्रभास

प्रभास के करियर में विविधतापूर्ण फिल्मोग्राफी है, जो उनकी बहुमुखी प्रतिभा को दर्शाती है। उन्होंने “डार्लिंग” (2010) जैसी रोमांटिक कॉमेडी से शुरुआत की और फिर “बुज्जिगाडु” (2008) जैसी फिल्मों के साथ एक्शन भूमिकाओं में आ गए। हालांकि, यह महाकाव्य ऐतिहासिक ड्रामा “बाहुबली: द बिगिनिंग” (2015) और इसका सीक्वल “बाहुबली: द कन्क्लूजन” (2017) था जिसने उन्हें सुपरस्टार बना दिया। इन फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस के रिकॉर्ड तोड़ दिए और प्रभास को एक अखिल भारतीय आइकन के रूप में स्थापित किया।

निष्कर्ष:

ईश्वर” तेलुगु सिनेमा के इतिहास में एक महत्वपूर्ण फिल्म बनी हुई है, मुख्य रूप से प्रभास को दुनिया से परिचित कराने के लिए। जब ​​हम इस फिल्म को देखते हैं, तो यह स्पष्ट होता है कि इसने प्रभास के करियर के लिए एक ठोस नींव रखी, जिसमें उनकी प्रतिभा और क्षमता का प्रदर्शन किया गया। प्रशंसकों और फिल्म प्रेमियों के लिए, “ईश्वर” सिर्फ़ एक फिल्म नहीं है, बल्कि सिनेमा में एक प्रिय अभिनेता की यात्रा की शुरुआत की एक उदासीन यात्रा है।

ईश्वर” का विश्लेषण करके, हम न केवल फिल्म की सराहना करते हैं, बल्कि प्रभास के शुरुआती करियर के बारे में भी जानकारी प्राप्त करते हैं, यह समझते हुए कि उनकी शुरुआती भूमिकाओं ने भारतीय सिनेमा में एक अग्रणी व्यक्ति बनने के उनके मार्ग को कैसे आकार दिया।

पढ़ने के लिए धन्यवाद!

मुझे आशा है कि आपको यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आया होगा। यदि आपने किया है, तो कृपया इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ साझा करें!

कल्कि 2898 AD” में प्रभास के साथ सिनेमाई चमत्कार के लिए तैयार हो जाइए। यह आगामी फिल्म विज्ञान कथा और पौराणिक कथाओं के रोमांचकारी मिश्रण के साथ एक शानदार दृश्य होने का वादा करती है। प्रभास को एक अभूतपूर्व भूमिका में देखें, जो एक महाकाव्य कहानी को जीवंत करता है। “कल्कि 2898 AD” के लिए अपने कैलेंडर को चिह्नित करें – एक अविस्मरणीय फिल्म अनुभव जिसे आप मिस नहीं करना चाहेंगे! उत्साह में शामिल हों और इस महाकाव्य यात्रा का हिस्सा बनें।

Filmybanda.com पर अन्य ब्लॉग पोस्ट देखें

हमारे पास विभिन्न विषयों पर विभिन्न प्रकार के ब्लॉग पोस्ट हैं, जिनमें शामिल हैं: चलचित्र समीक्षा, सेलेब्रिटी ख़बर, बॉलीवुड गॉसिप और भी बहुत कुछ! तो आप किस बात की प्रतीक्षा कर रहे हैं? आज ही filmybanda.com पर जाएँ और पढ़ना शुरू करें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *