ZINDAGI KI YAHI REET HAI LYRICS – KOI JAANE NA

ज़िन्दगी की ये हैं रे गीत है कोई जाने ना से सौमित्र देव बर्मन द्वारा गाया गया बिल्कुल नया हिंदी गीत है। ज़िन्दगी की शादी है गीत के बोल मनोज मुन्तशिर ने लिखे हैं जबकि संगीत रोशाक कोहली ने दिया है।

ज़िन्दगी की ये हैं रे गीत है कोई जाने ना से

ज़िन्दगी की ये हैं रे गाने के बोल

थोदी बरिश हो गइली को
अस्सलामन ढुल गया
बाडलोन के बीच में कोइ
रस्ता खल गया

रोन से कबि दरना तू नाहीं
गुनगुन जो तेरा गीत है
ज़िन्दगी की यादे फिर से
हर की बात हाय जेत है

ज़िन्दगी की यादे फिर से
हर की बात हाय जेत है

ये ह्वा टू चल राही है
पार इस्के पावन हैं कहन

ये ह्वा टू चली राही है
पार इस्के पावन हैं कहन
माछलियां घर जा रहि हैं
इनक गनव हह कहन हन

ये जो पेली बदी अल्बेली
चालो मिलके सुलझायें हम
दोस्ती वाह शिप है
जो दोउ कबि ना
चालो दोस्त बन जायेंगे हम

हो संग तेरे कहलीन
जो छोडे ना इकले
वाही से तेरा मिलना है

ज़िन्दगी की यादे फिर से
हर की बात हाय जेत है

विज्ञापन

ज़िन्दगी की ये हैं रे गीत विस्तार से

फ़िल्म / एल्बम: कोई जाने ना
गीत के बोल: मनोज मुंतशिर
गायक: सौमित्र देव बर्मन
संगीतकार: रोशाक कोहली

Leave a Comment