MAKKHI LYRICS – RAVINDER GREWAL

रविन्द्र ग्रेवाल द्वारा मखी गीत और मिस पूजा डीजे डस्टर द्वारा दिए गए संगीत के साथ बिल्कुल नया पंजाबी गीत है। मक्खी गीत के बोल कीर्ति सिलोन द्वारा लिखे गए हैं और इसका संगीत वीडियो ईडी अम्रज द्वारा निर्देशित है।

रविन्द्र ग्रेवाल द्वारा मखी गीत

मक्खी के बोल

तेनु मुख्य कदे देखन
खा गया गया बुलेखा
तेनु मुख्य कदे देखन
खा गया गया बुलेखा

अकिअयन नू हत मन वीर
तूं छे ऐवे समज लेया
करदी आन प्यार वी

शीशे नु नीचे मुख्य करके

माखी कड्डी बहार वी
शीशे नु नीचे मुख्य करके
माखी कड्डी बहार वी
खा गया तू बुलेखा

हाथ जे क्यौं पेइ सी मरदी
निगाह जद गइ यार दी
हाथ जे क्यौं पेइ सी मरदी
निगाह जद गइ यार दी

बैंड पेई कार नी
होवे न कोय समस्या
मुख्य केहा मुटियार नी

धोंदे आशिक ना जानी
जज्जी सरदार नी
धोंदे आशिक ना जानी
जज्जी सरदार नी
हाथ जे क्यौं पेइ सी मरदी

वड्डा सरदार कहूं
शेहर दा तगादा वी
निवान ए बुर्ज खलीफा
उचा मेरा नखरा वे
निवान ए बुर्ज खलीफा
उचा मेरा नखरा वे

लंहगनि आ बेमर मेरि
पासे कर थार वे
तू तैं वे ऐवे समा गमा
करदी आन प्यार वी

शीशे नु नीचे मुख्य करके
मक्खी कड्डी बहार वी
खा गया तू बुलेखा

एह के दास जहज लगुन
लंहग जा चुप चुप नी
जट दी ए तोर तेरे कोन
अख दे विच राडके नी
जट दी ए तोर तेरे कोन
अख दे विच राडके नी

नखरे दी कांड तपनी vi
होंदी ऐ यार नू
होवे न कोइ समास
मुख्य केहा मुटियार नु

धोंदे आशिक ना जानी
जज्जी सरदार नी
शीशे नु नीचे मुख्य करके
माखी कड्डी बहार वी
धोंदे आशिक ना जानी
जज्जी सरदार नी
खा गया गया बुलेखा
हाथ जे क्यौं पेइ सी मरदी

विज्ञापन

मक्खी गीत विस्तार से

गीत के बोल: कीर्ति सिलोन
गायक: रविंदर ग्रेवाल, मिस पूजा
संगीतकार: डीजे डस्टर

Leave a Comment