AGG ATT KOKA KEHAR LYRICS – GURNAM BHULLAR

Agg Att Koka Kehar के बोल Gurnam Bhullar द्वारा और बानी संधू केप्टन द्वारा दिए गए संगीत के साथ बिल्कुल नया पंजाबी गीत है। Agg Att koka kehar गीत के बोल कप्तान द्वारा लिखे गए हैं और संगीत वीडियो गैरी भुल्लर द्वारा निर्देशित है।

Agg Att Koka Kehar के बोल Gurnam Bhullar द्वारा

अगम अट कोका केहर गीत

गुरु सिद्धू संगीत!

अख 32 बोर तेरी तोर वाहन मोर
तेरी चढी वि आ लोर तेरी जीविं रोड़ी निशान
हो डब्बी विच फेम नाल वलियन दी टीम
जेहदा झाक नामकेँ पञ्ज मिनट मे विच पावड़ा

हो बहला वलयियन तू फबे कुड़ी नु
तू अगा आ के ऐ आल् जलवा के जट्ट आ
वे समुझ न लागे कुड़ी नु

तू अगा आ के ऐ आल् जलवा के जट्ट आ
वे समुझ न लागे कुड़ी नु

खुदे जीब उतते माल तेर 35-40 नाल
तेरे बुलन उते गाल तेरे दिल जामा शेर वी
जेहदे तेरे विरोधी पुने ओहना दे खूब
जटा तेरे उतारे संतरी जामा तैसी वाला बेर वीर

खुदे जीब उतते माल तेरी 35-40 नाल
तेरे बुलन उते गाल तेरे दिल जामा शेर
जेहदे तेरे विरोधी पुने ओहना दे खूब
जटा तेरे उतारे संतरी जामा तैसी वाला बेर वीर

तू जान जान की सतांती जट्ट नु
तू कोका तो केहर ऐ नी
जट्टी एई के जेहर ए नी
समुझ नी औदि जट नू
तू कोका तो केहर ऐ नी
जट्टी एई के जेहर ए नी
समुझ नी औदि जट नू

11 तेरे लख ते न 12 तेरी आख ते नी
13 तेरे जट्ट ते नी चलदे आ केस नी
आदि जात शाँ नाल हर काई जान
कपटं कपटं नाल लांडे जेहदे दौड़ नी

11 तेरे लख ते न 12 तेरी आख ते नी
13 तेरे जट्ट ते नी चलदे आ केस नी
आदि जात शाँ नाल हर काई जान
कपटं कपटं नाल लांडे जेहदे दौड़ नी

वे तुझे ससेजे खाबे कुड़ी नु
तू अगा आ के अट आ वे जालवा के जट्ट आ
वे समुझ न लागे कुड़ी नु
तू अगा आ के ऐ आल् जलवा के जट्ट आ
वे समुझ न लागे कुड़ी नु

हो आकदं ते आदि आन वे घोडियं ते घदियं वे
तेरे लेई हाय बनियां न वे वड्डे दिल वाले
ना बक्शे न चढे वे तु वेडदे टन वि वाडे
वे तु १०-१० कददे हये वे जिहं वाहन पलेया

हो आकदं ते आदि आन वे घोडियं ते घदियं वे
तेरे लेई हाय बनियां न वे वड्डे दिल वाले
ना बकशे न चडे वे तु वददे टन वि वाडे
वे तु १०-१० कददे हये वे जिहं वाहन पलेया

हो तू तैं नखरे नाल धूंडी जट्ट नु
तू कोका तो केहर ऐ नी
जट्टी एई के जेहर ए नी
समुझ नी औदि जट नू
तू कोका तो केहर ऐ नी
जट्टी एई के जेहर ए नी
समुझ नी औदि जट नू

इक तू पियारी दूजजी यारी दी बिमारी
तीजी वज्जदी आ ताड़ी नी बाथिन्दे आले वास्ते
सुतयन च रफल लगन ओहदोन वि डबल लगन
जिनी सोहनी लगदी हुंडी आ बेगि तश ते
इक तू पियारी दूजजी यारी दी बिमारी
तीजी वज्जदी आ ताड़ी नी बाथिन्दे आले वास्ते

त पातु कीद्यां कामं च कुदि नु
तू अगा आ के ऐ आल् जलवा के जट्ट आ
वे समुझ न लागे कुड़ी नु
तू कोका तो केहर ऐ नी
जट्टी एई के जेहर ए नी
समुझ नी औदि जट नू

गुरु सिद्धू संगीत!

विज्ञापन

Agg Att कोका केहर गीत विस्तार से

गीत के बोल: कप्तानन
गायक: गुरनाम भुल्लर, बानी संधू
संगीतकार: कप्तानन

Leave a Comment