10 Reasons for the Suicide of Sushant Singh Rajput

10 Reasons for the Suicide of Sushant Singh Rajput

अक्सर जब राजनीति में से जिक्र होता है तो दिमाग में सफेद कपड़े और सर पर लंबी टोपी लगाए कुछ महापुरुष अपने आप प्रकट हो जाते हैं लेकिन हकीकत में यह तो बस नाम के लिए बदनाम है क्वालिटी की सबसे तेज आदि चलती है मायानगरी मुंबई में जहां पर फिल्म इंडस्ट्री नाम का राक्षस धीरे-धीरे मजबूर लोगों के सपने और आखिरी में उनकी जिंदगी को बूंद बूंद निचो लेता है। sushant singh rajput death reason hindi, sushant singh rajput death reason tamil, sushant singh rajput death reason  english, sushant singh rajput death reason photo,
sushant singh rajput death reason quora, sushant singh rajput death reason urdu, sushant singh rajput death reason youtube.

Sushant Singh Rajput Biography

10 Reasons for the Suicide of Sushant Singh Rajput
10 Reasons for the Suicide of Sushant Singh Rajput

सुशांत सिंह राजपूत एक टैलेंट से भरे हुए कलाकार जो बिना किसी के सपोर्ट पर सिर्फ अपने मेहनत के दम पर फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर करने वाले एक्टर से कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हुए थे अब इस दुनिया को अलविदा बोल चुके हैं लेकिन दिल पर पत्थर रखकर मैं आपको बता दूं कि सुशांत पहले नहीं थे और शायद आखिरी भी नहीं होंगे कारण कारण हजारों हैं जिनको शब्दों में उतारना असंभव है लेकिन कुछ बातें हैं जो घटिया पंती की सारी सीमाएं लांघ चुकी है

कुछ लोगों के चेहरों के ऊपर से नकाब उतारे जाएं और उन को आईना दिखाया जाए आज मैं आपके सामने 10 ऐसे पॉइंट रखने वाला हूं जो यह बात साबित कर देंगे कि बाहर से हीरे की तरह चमकने वाली फिल्म इंडस्ट्री हकीकत में कीचड़ से भरा हुआ एक दल दल है जो मासूम लोगों को खींच कर खुद उनको अपनी जान का दुश्मन बना देता है।

 

1. Nepotism

Nepotism जिसने हमारे देश में सिनेमा की जमीन को खोखला कर दिया है और टैलेंट से भरे हुए एक्ट्रेस के मुंह पर तमाचा मार कर उनको सत्ता से दूर कर दिया सालों साल के अंदर मेहनत करते हैं जरा सोच कर देखिए आप पढ़ाई में बहुत तेज है और कंधे पर किताबों से भरा हुआ एक बैग लेकर पूरे साल स्कूल जाते हो लेकिन एग्जाम के टाइम पर टीचर जानबूझकर आपको बिना पेपर दिए ही वापस घर भेज दे और अपने खुद के बेटे को बिना एक शब्द लिखे ही क्लास में सबसे ज्यादा नंबर बांट दें तो आपको कैसा लगेगा ठीक वैसे ही फिल्म इंडस्ट्री में कुछ एक्टर को नई नई फिल्में थाली में सजाकर परोसी जाती है जो वहीं दूसरे को ऑडिशन तक देने का मौका नहीं मिलता जिसके खिलाफ आवाज उठाते हैं उनको पागल घोषित कर दिया जाता है या फिर काला जादू का इल्जाम लगा देते हैं।

 

2. Dual nature

Dual nature या फिर शुद्ध भाषा में बोलूं तो दोगला पनती
कुछ मशहूर प्रड्यूसर थे जिनकी जेब काफी मोटी है पर बुधि उससे भी ज्यादा मोटी हो चुकी है यह अपनी दुनिया के राजा है और बाकी सब इनके लिए कीड़े मकोड़ों के बराबर हैं आयुष्मान खुराना ने अपनी बुक में एक किस्से का जिक्र किया है जब स्ट्रगल वाले दिनों में उनको करण जोहर के आफिस का नंबर देकर बोला गया था कि आपका कैरियर सेट हो चुका है अगले दिन फोन किया तो जवाब मिला कि नंबर गलत है दूसरी बार मिलाया तो बोला था कि प्रोड्यूसर कही बिजी हैं बाद में मिलना और तीसरी बार जवाब मिला की हम stars साथ काम करते हैं जब मेहनत के दम पर फिल्मी दुनिया का मशहूर नाम बन गए तो करण सामने खुद उनको शो पर बुलाकर फ़िल्म का ऑफर दिया जिसको आयुष्मान ने हंसते-हंसते मना कर दिया आप समझ ही गए होंगे आपके नाम के साथ तुमको जोर्डकर फायदा नहीं होगा तो प्रड्यूसर साहब आपको चाय पर बैठने वाली मक्खी की तरह उड़ा देंगे लेकिन अगर आपका नाम बिकता है तो वह खुशी-खुशी उसी चाय को पीने के लिए तैयार हो जाएंगे।

 

3. Media

Media हमारे देश की नैया डूबने वाली मीडिया जो आजकल खबरें दिखाती कम और बनाती ज्यादा है कौन सा स्टार किस रंग की पानी की बोतल लेकर जाता है किसके बच्चे ने आज मुह से पहला शब्द बोला या फिर किसने पहली बार किचन में बर्तन धो लें यह खबरों की हेडलाइंस होती हैं गौर की बात है खबरों में दिखते वही हैं जिनके नाम के पीछे कपूर खान होता है क्या सोच रहे हैं ऐसा क्यों जवाब है हरे रंग वाला नोट जिस से इनका धंधा चलता है इसके बदले ही आपनी प्रमोशन की दुकान चलाते हैं और कुछ मामूली एक्टर्स को लोगों के बीच में भगवान बना देते हैं।

 

4. Connection

कनेक्शन जानी की चमचागिरी जिसके सहारे फिल्मों में एंट्री करने के नए नए रास्ते तलाशने की कोशिश की जाती है फर्क बस इतना है कि अगर आप किसी एक्टर के बेटे हैं तो आपको इज्जत के साथ ऑफिस में बैठा कर कहानी सुनाई जाती है लेकिन अगर आप बाहर वाले हैं और फिल्मों में काम करना है तो पहले बंद कमरे के अंदर आपको इशारों पर नचाया जाएगा जिसमें शरीर और दिमाग दोनों कौन याद आता है फिर भी अगर आप आवाज उठाने की हिम्मत दिखाते हैं और गलत को पूरी दुनिया के सामने लेकर जाते हैं तो आपका कैरियर हमेशा हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा और फिल्म इंडस्ट्री से आपको छुआछूत की बीमारी समझ कर बाहर फेंक दिया जाएगा।

 

5. Awards

अवार्ड जिसको किसी भी एक्टर को इंडस्ट्री में सफलता नापने का हत्यार माना जाता है लेकिन हकीकत में यह किसी धंदे से कम नहीं है पूरा प्रोसेस आपको आसान शब्दों में समझाता हूं देखो अवार्ड कराने वाला स्पॉन्सर होता है जो जो अपनी फिल्म से जुड़े हुए लोगों को मुफ्त में अवार्ड बांटता है जज भी वही होते हैं जो उनके साथ जुड़े हुए हैं मानिकी फ़िल्मफ़ेअर ऐमेज़ॉन ने कराया तो गली boy को 13 वर्ड मिल गए सीक्रेट आप जानते ही हैं दूसरी कलाकारी है चमकती हुई ट्रॉफी बनाकर स्टार बॉय जिसके हाथों में चमचमाती ट्रॉफ़ी पकड़ा ना जिसके साथ सेल्फी खींचकर इंस्टाग्राम पर अपलोड कर देंगे बच्चे नाराज हो गए तो कल को फिल्मों में काम कौन करेगा जरा इनसे पूछो सामने जो कारनामा ms dhoni बनकर पर्दे पर दिखाया था उसके बदले में उनको एक aword तक नहीं दिया जा सकता था अगर जवाब ना है तो फिर डिक्शनरी से अवार्ड नाम का सब हमेशा-हमेशा के लिए मिटा दीजिए।

 

6. Nakli izat

6 reason है उधार वाली इस के बिना मुंबई में काम तो छोड़िए कोई आपकी तरह मुड़ कर देखने की कोशिश तक नहीं करेगा अगर फ़िल्म में काम करना है तो आपके पास अच्छा खासा बंगला होना चाहिए प्रोड्यूसर से मिलने जाओ तो बड़ी महंगी कार से उतरना पड़ेगा और हां पार्टी करने शहर के सबसे महंगे क्लब नहीं गए तो आप filmline के काबिल ही नहीं है यह सब दिखावे वाला खेल एक्टर्स की जरूरत बन चुका है जिसके बिना आपको पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया जाएगा पैसे नहीं है तो फिर उधार मांगिए बैंक से लोन लीजिएगा लेकिन वापस चुकाने के लिए आपको काम मिलेगा इसकी कोई गारंटी नहीं।

 

7. Tv shows

टीवी शो जो कहने के लिए तो उसे एंटरटेनमेंट के लिए बनाए जाते हैं लेकिन हकीकत में इनका इस्तेमाल अपने अंदर छुपे हुए भड़ास निकालने के लिए किया जाता है कॉफी के बहाने आपसे पूछ लिया जाएगा कि फलाना एक्टर तुमसे बेकार कियो है जा वह पार्टी में गरीबों जैसे कपड़े क्यों पहनता है या फिर वो इंग्लिश बोलने में अटकता है उसमें मजेदार चुटकुले बनाए जाते हैं कमाल की बात यह है कि इन सब का मतलब एंटरटेनमेंट बिल्कुल नहीं है बल्कि अपने चुनिंदा दोस्त पर उनके बच्चों को पॉपुलर बनाने का एक शॉर्टकट तरीका है जिसमें एक एक्टर को नीचा दिखा कर दूसरे को बेहतर साबित किया जाता है।

 

8. Starskids vs outsider

Starskids vs outsider की जंग जिसमे अक्सर छोटे शहर से बाहर आए लोगों को दरवाजे पर लगी हुई दीमक की तरह देखा जाता है और फिल्मे तो छोड़िए कोई उसे हेलो हाय करना भी खुद की बेज्जती समझता है सोचिये जब रवीना टंडन जैसी पॉपुलर एक्ट्रेस खुलकर इस बात का जिक्र करें कि किस तरह अजीबोगरीब नामों से बुलाकर उनका मजाक उड़ाया जाता था उनको किसी भी फ़िल्म से निकाल दिया जाना या फिर झूठी खबर चलाकर उनकी पर्सनल इमेज खराब करना। तो फिर छोटे एक्ट्रेस कैसे नरक से गुजरे होंगे। आउटसाइड एक खिलौने की तरह समझा जाता है जिनको आसमान तक के सपने दिखाए जाते हैं और कम पैसों में फिल्में करवा कर अपना काम निकाला जाता है उसके बाद उनका फोन उठाना बंद कर दिया जाएगा ऑफिस में नो एंट्री का बोर्ड लगा देंगे फिर भी ट्वीट करके पूछते हैं कि आखिर डिप्रेशन हुआ कैसे एक बार बताया तो होता थोड़ी शर्म करिए कम-से-कम इंसानियत के खातिर मुंह बंद कर लीजिए।

Read This

Bollywood Star Sushant Singh Rajput Commits Suicide

Top 10 Best NETFLIX Movies in Hindi

9. Future

नोवा रीजन जुड़ा हुआ है फिल्मी करियर के फ्यूचर यानी भविष्य को लेकर एक ऐसा सवाल जो हर उस इंसान को अंदर से नोचता रहता है उसकी पूरी जिंदगी फिल्मो से कमाए गए पैसों पर टिकी हुई है ना कि दादा परदादा की तिजोरी पर। अगर आपके नाम के पीछे मशहूर सरनेम नहीं लगा हुआ है तो हर दूसरे फ़िल्म में आपको अपना टैलेंट साबित करना पड़ेगा अगर एक भी ब्लॉक हो गई तो आपके में फुल-स्टॉप लग जाएगा। टीवी के ad में 1 सेकंड का रोल नसीब नहीं होगा वहीं अगर आप कपूर खानदान से है तो फिर आप बिना हिट फिल्में दिए फ्लॉप देते जाइए उसके बावजूद आप का भविष्य सूरज की तरह चमकता रहेगा या फिर गूंगा बन कर बिना डायलॉग बोले भैया आप सिलेब्रिटीज वाली रेस में दौड़ते रहेंगे।

 

10. Audience

10 रीज़न कोई और नही audience जानी की हम ऑडियंस के साथ जुड़ा हुआ है जो घटिया से घटिया फन को 200 करोड़ की कमाई करा देती है और अच्छे से अच्छे उनको दो करोड़ भी नसीब नहीं होता जब मेहनत से बनाई गई फ़िल्म बुरी तरह पिट जाती है और टैलेंटेड से भरे एक्टर के माथे पर फ्लॉप का टीका लगाया जाता है तो उसका दिमाग किस हादसे का शिकार होता है उसका अंदाजा लगाना भी नामुमकिन है अगर judwa 2 जैसी 130 करोड़ से भी ज्यादा कमाई कर ले और सोन चिडीया जैसी Master piece पीछे चार करोड़ में सिमट जाए तो समझ लीजिए कि तुम से जुड़े हुए एक्टर फेल नहीं हुए हैं 100 में से 0 नंबर हम लोगों के हैं जो अनजाने ही एक अपराध में शामिल हो गए है।

 

Final Words

उम्मीद करता हूं आप समझ गए होंगे अगर आपको articale अच्छा लगा तो आप आपने दोस्तो और फैमिली में शेयर जरूर करे।

Thank You…

Leave a Comment